Wednesday, June 26, 2019

सरसों के फायदे:

1. अस्थमा कंट्रोल करता है सरसों के बीज में सेलेनियम और मैग्नीशियम अच्छी मात्रा में पाया जाता है, इन दोनों में एंटीइन्फ्लैमटॉरी होता है। सरसों अगर रोज़ खाया जाए तो अस्थमा, सर्दी और सीने में जमे बलगम से आराम मिलता है।
2. वजन कम करे सरसों के बीज में बी कॉम्प्लेक्स विटामिन जैसे फोलेट, नियासिन, थियामिन, और राइबोफ्लेविन होते हैं। सरसों का तेल मटैबलिज़म को स्वस्थ रखता है जिससे वजन घटाने में मदद मिलती है।
3. उम्र घटाए सरसों में कैरोटीन, ज़ीक्सानथिंस और विटामिन A, C और K की भरपूर मात्रा पायी जाती है। इन सब विटामिन के कारण यह एक एंटीऑक्सीडैंट है, जो बढ़ती उम्र में होने वाली निशानियां जैसे झुर्रियां और रिंकल को दूर करता है।
4. गठिया और मांसपेशियों के दर्द से छुटकारा दिलाता है सरसों में सेलेनियम और मैग्नीशियम होता है, जो एंटी इन्फ्लैमटॉरी होने के साथ साथ गर्माहट भी पहुँचता है। सरसों का तेल लगाने से शरीर की मांसपेशियों को गर्माहट मिलती है जिससे दर्द में आराम मिलता है।
5. कोलेस्ट्रॉल कम करता है सरसों में नियासिन या विटामिन बी 3 की भरपूर मात्रा पायी जाती है। नियासिन में कोलेस्ट्रॉल को कम करने के गुण पाये जाते हैं, जो आर्टऱीज़ को अथेरोक्लेरोसिस से बचाता है जिससे रक्त प्रवाह ठीक रहता है, और शरीर को उच्च रक्तचाप नहीं होता।
6. बालों की ग्रोथ के लिए सरसों के तेल से सर में मालिश करने से बालों की ग्रोथ तो अच्छी होती ही है साथ ही ब्लड सर्कुलेशन भी बढ़ता है। तेल लगाने के बाद बालों में प्लास्टिक बैग या गर्म तौलिया लपेट दें, इससे तेल अच्छे से बालों में अब्सॉर्ब हो जायेगा। इसे आधे घंटे के लिए छोड़ दें फिर अच्छे शैम्पू से धो लें।
7. त्वचा इन्फेक्शन से बचाये सरसों में सल्फर पाया जाता है, जो एक एंटीफंगल और एंटीबैक्टिरीअल तत्व है, जिससे त्वचा के इन्फेक्शन को कम किया जा सकता है।
Toll-Free: 8010-888-222
Book Your Appointment: https://www.onlinediets.in/

Tuesday, June 25, 2019

गर्मियों में खाएं यह पौष्टिक आहार


दोस्तों जैसा कि हम सब जानते ही हैं कि गर्मियों का मौसम शुरू हो गया है। गर्मियों के मौसम में हमें अपनी सेहत का खास ध्यान रखना होता है क्योंकि यदि इस मौसम में हम ज्यादा गर्म चीजें खाएंगे तो इससे हमारे शरीर को भारी नुकसान झेलना पड़ सकता है । गर्मियों में हमें ज्यादा से ज्यादा सब्जियां फल और पेय पदार्थों का सेवन करना चाहिए। यदि हम इन्हें अपनी डाइट में शामिल करेंगे तो हमारे शरीर में पानी की कमी नहीं होगी। इनमें ना केवल पानी की प्रचुर मात्रा होती है बल्कि काफी भारी मात्रा में पोषक तत्व भी पाए जाते हैं। गर्मियों में हमें तेल मसालों से परहेज रखना चाहिए और कोशिश करनी चाहिए कि हम हल्के भोजन का ही सेवन करें। आइए आज हम आपको बताते हैं कि गर्मियों में हमें किन चीजों का सेवन करना चाहिए।

Dietician Sheela Seharawat at Diet Clinic Health Care Pvt Ltd


1. गुलकंद का करे सेवन:-
गुलकंद खाने से हमारे शरीर को काफी ठंडक मिलती है और इस तरह हम डिहाइड्रेशन के शिकार होने से बच जाते हैं। गुलकंद ना केवल हमारे शरीर को ठंडा करता है बल्कि हमारी त्वचा को भी ताजा और चमकदार बनाता है। गुलकंद में भारी मात्रा में विटामिन बी, सी और पाए जाते हैं। इतना ही नहीं गुलकंद में एंटी ऑक्सीडेंट भी प्रचुर मात्रा में मौजूद होते हैं। इसके साथ-साथ गुलकंद हमारे लिए माउथ फ्रेशनर का भी काम करता है और हमारे पाचन संबंधी समस्याओं को भी जड़ से खत्म करता है।

2. खीरा है फायदेमंद:-
हम सब अच्छे तरीके से जानते हैं कि गर्मियों में खीरा काशी ज्यादा बिकता है । ऐसा इसलिए है क्योंकि गर्मियों में खीरा हमारे शरीर के लिए काफी फायदेमंद साबित होता है। खीरे में विटामिन B6 , B12, विटामिन बी, विटामिन ए, पोटेशियम, आयरन और फास्फोरस पाए जाते हैं। नियमित रूप से खीरे के रस का सेवन करने से हमारे शरीर में पानी की मात्रा बराबर बनी रहती है और हमारा शरीर ताकतवर बनता है । खीरे में लगभग 96% पानी पाया जाता है।

3. मट्ठा से रखें अपने शरीर को ठंडा:-
गर्मियों के मौसम में मट्ठा को अमृत के समान समझा जाता है । कई तरह के पोषण से भरपूर होता है मट्ठा ना केवल हमारे शरीर को ठंडा रखता है बल्कि हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ाता है। यदि आप गर्मी से परेशान हैं तो तुरंत मट्ठे का सेवन करें इससे आपको काफी ठंडक मिलेगी।

4. तरबूज़ का जूस पीना है गुणकारी:-
गर्मियों में हमें ना केवल ताजे फल खाने चाहिए बल्कि इन फलों का जूस भी पीना चाहिए। तरबूज का जूस काफी टेस्टी होता है और हमारे शरीर को ठंडा रखता है । यह हमारे शरीर को फिट बनाता है। एक व्यक्ति को गर्मियों में कम से कम 1 दिन में दो गिलास तरबूज का रस पीना चाहिए।

5. गर्मियों में करें नारियल पानी का सेवन:-
नारियल पानी पीते ही हमारे शरीर में एनर्जी आ जाती है क्योंकि नारियल पानी हमारे शरीर में हुई पानी की कमी को पूरा करता है। नारियल पानी पीने से पानी की कमी हो जाने के कारण हुए डायरिया से भी छुटकारा मिलता है।

6. पुदीना का करे सेवन:-
पुदीना हमें ताजी का एहसास कराता है। पुदीने में बहुत तरह के गुण पाए जाते हैं । पुदीने को माउथ फ्रेशनर की तरह भी इस्तेमाल किया जाता है। यदि रोज आप दही में पुदीना डालकर इसका सेवन करें तो इससे आपके शरीर को काफी ठंडक मिलती है और साथ ही आपका पाचन तंत्र भी दुरुस्त रहता है। लू से बचने के लिए भी पुदीना लाभकारी होता है।

7. सत्तू का प्रयोग करें:-
सत्तू गेहूं, जौ और भुने हुए चने को पीसकर बनाया जाता है । सत्तू हमारे पेट की गर्मी को शांत करता है। कई लोग सत्तू में शक्कर या नमक मिलाकर खाते हैं । सत्तू गर्मियों के मौसम में काफी फायदेमंद साबित होता है। यदि आप चाहे तो प्यास बुझाने के लिए कोल्ड ड्रिंक्स की जगह सत्तू का इस्तेमाल कर सकते हैं।

8. फायदेमंद प्याज़:-
आप सब ने सुना ही होगा कि गर्मियों में हमें अधिक से अधिक सलाद खाना चाहिए और यदि आप सलाद में कच्चे प्याज का सेवन कर रहे हैं तो यह आपके लिए विशेष रूप से लाभदायक बन जाता है। नियमित रूप से कच्चे प्याज का सेवन करने से लू नहीं लगती और इसके साथ साथ गर्मी से जुड़ी कई बीमारियां ठीक भी हो जाती हैं। प्याज ना केवल हमें गर्मी से बचाता है बल्कि हमारे खाने के स्वाद को भी बढ़ाता है।

9. नींबू पानी:-
गर्मियों में नींबू पानी का सेवन हमें गर्मी से राहत दिलाता है। नींबू में कई तरह के गुण पाए जाते हैं। नींबू में एंटी ऑक्सीडेंट के गुण पाए जाते हैं। जिससे हमारा शरीर स्वस्थ रहता है।

10. खाने में सलाद का इस्तेमाल करें:-
गर्मियों में हमें ज्यादा से ज्यादा सलाद का सेवन करना चाहिए क्योंकि कच्चा सलाद में पानी प्रचुर मात्रा में होता है जो गर्मी के कारण हमारे शरीर में हुए पानी की कमी को पूरा करने में मददगार साबित होता है।

Join Diet Clinic to lose weight naturally; now grab your personalized diet plan, recipes and more.
Call us : 8010888222


Dietitian/Nutritionists in Noida, UP || Dietitian/Nutritionists in East Delhi || Dietitian/Nutritionists in Indirapuram, Ghaziabad || Dietitian/Nutritionists in Mayur Enclave, Delhi || Dietitian/Nutritionists in Vaishali, Delhi || Dietitian/Nutritionists in Mayur Vihar III, Delhi || Dietitian/Nutritionists in Kaushambi, Delhi || Dietitian/Nutritionists in Gurgaon, Haryana || Dietitian/Nutritionists in Punjabi Bagh, Delhi || Dietitian/Nutritionists in North, Delhi

Friday, June 21, 2019

How Yoga and Meditation can change your life?


Yoga involves the mind and body equivalently. This will bring well-being to you and make you feel happy all day. Yoga postures should be approached by concentration. Yoga or meditation practice is ideal for all ages. By practicing meditation, you can improve your lifestyle and protect from various diseases. Yoga focuses to build a flexible and balanced body. Even an unfit person can start doing yoga. This will improve your concentration and make you feel healthy.

Dietician Sheela Seharawat at Diet Clinic Health Care Pvt Ltd

Explore meditation and it will change your life positively. This will give you an energetic transformation and you will find a new you. Dailymeditation is essential, which will give you more energy to work and keep you healthy. This will give you strength and you will get a beautiful mind and body.

Visit: www.onlinediets.in

Best Slimming Center, weight loss and slimming center, Slimming Center Dwarka, weight loss diets, slimming centers in Delhi, Slimming Centers in Noida, Slimming Center Lucknow, Slimming Center in Gurugram, Diet Clinic Gurgaon, Slimming Clinic Gurgaon, Slimming Clinic in Noida, How to weight loss fast, Fat loss Center, Slimming Center in Lucknow, Slimming Center Gujrat


बढ़ती उम्र में भी रहना है फिट, तो खानपान शामिल करें ये 5 चीजें

हमारी सेहत पर हमारे खान-पान का बहुत गहरा असर होता है। हमारा खान-पान जितना अच्छा होता है। हमारी सेहत भी उतनी अच्छी रहती है यदि हमारा खान-पान अच्छा है तो हम बीमारियों से बचे रह सकते हैं। इतना ही नहीं खानपान अच्छा होने से हमारी खूबसूरती भी बनी रहती है। ऐसा जरूरी नहीं है कि 50 साल की उम्र पार करने के बाद आप जवान नहीं देख सकते हैं। यदि आप अपनी डाइट पर पूरा ध्यान दें तो आप 50 साल के बाद भी आप जवान दिख सकते हैं। 50 साल के बाद हमारे शरीर में जरूरतमंद तत्वों की कमी हो जाती है इसलिए 50 साल के बाद हमारे शरीर में पोषक तत्वों की आवश्यकता अधिक हो जाती है। इसके साथ-साथ हमारी कोशिकाओं का बढ़ना कम हो जाता है। हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता भी कम होने लगती है।
इन सब कमियों के चलते ही 50 साल के बाद हड्डियां कमजोर होने लगती है। इन सब के साथ साथ मांसपेशियों का कमजोर होना, पेट में गड़बड़ी होना, डायबिटीज, हाई बीपी, जैसी समस्याएं भी होने लगती हैं। इन बीमारियों का मतलब यह नहीं है कि 50 साल के बाद आप इन बीमारियों के डर से खाना पीना कम कर देना बल्कि आपको अपने खाने पर खास ध्यान देना चाहिए।

Dietician Sheela Seharawat at Diet Clinic Health Care Pvt Ltd 


फाइबर :
हम सबके आहार हर में रोजाना फाइबर का काफी महत्वपूर्ण स्थान माना जाता है। खासकर जब किसी व्यक्ति की उम्र 50 से ज्यादा हो जाए तो उसके भोजन में फाइबर का मुख्य स्थान हो जाता है। फाइबर दो तरह के पाए जाते हैं एक घुलनशील फाइबर और दूसरे घुलनशील फाइबर। हमारे पाचन तंत्र को अच्छे तरीके से भी नियमित करने में हमारी सहायता करता है। जबकि घुलनशील फाइबर हमारे कैस्ट्रॉल को कम करने में मददगार साबित होता है। 50 साल की उम्र हो जाने के बाद हर व्यक्ति को अपने डाइट में कम से कम 38 ग्राम फाइबर जरूर मौजूद करना चाहिए। इसके लिए आप अपने भोजन में साबुत अनाज, पास्ता, सफेद ब्रेड, चावल आदि खा सकते हैं।

फल और सब्जियां:
हमारी उम्र बढ़ने के साथ-साथ हमें अपने आहार में हरी सब्जियां और फलों का सेवन भी बढ़ा देना चाहिए। हरी सब्जियां और फल में प्राकृतिक मिनरल और विटामिन प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं जो हमारे शरीर के लिए काफी महत्वपूर्ण होते हैं। जैसे स्ट्रौबरी और संतरा में विटामिन सी, पालक में आयरन, टमाटर में लाइकोपीन, केले में मैग्नीशियम, नाम के मिनरल्स पाए जाते हैं इसीलिए 50 साल के बाद आहार में 3 कब सब्जियां और दो कब फल जरूर शामिल करने चाहिए। ऐसा करने से शरीर स्वस्थ रहता है। Weight Loss Diet Clinic Noida

नाश्ते में दलिया का सेवन करना काफी अच्छा विकल्प माना जाता है। गर्मी में डिहाइड्रेशन से बचने के लिए दिन में हमें कम से कम 15 गिलास पानी पीना चाहिए। स्वस्थ रहने के लिए नियमित रूप से व्यायाम करना हमारे शरीर के लिए काफी लाभदायक होता है। दिन में थोड़ा थोड़ा करके कई बार खाना चाहिए। ऐसा करने से पाचन तंत्र सही रहता है और थकान भी नहीं होती। बढ़ती उम्र के साथ बालों का गिरना, बालों का सफेद होना , चेहरे पर झुर्रियां आना, खांसी जुखाम होना, कमजोर मांसपेशियां हो जाना सब आम समस्याएं हैं। इसलिए इन समस्याओं से बचने के लिए हमें विटामिन ए , सी, ई और  पोषक तत्वों का सेवन अवश्य करना चाहिए। अपने दैनिक आहार में दो से तीन तरह के मौसमी फलों को अवश्य शामिल करें। यह कब्ज से रोकने में काफी मददगार साबित होते हैं। खाना बनाते समय जैतून या सरसों के तेल का इस्तेमाल ही करें। यह तेल केलोस्ट्रोल को बढ़ने से रोकते हैं। जितना ज्यादा हो सके बाहर के खाने से बचें।

Blood Diet | Blood Diet at Diet Clinic | Diet Clinic Tips For Healthy Blood | How to clean our blood | How to get healthy blood | Blood type A | Blood type B | Blood type O+ | Best Blood Type | Slimming Center Gurgaon | Slimming Center Delhi | Slimming Center Noida | Slimming Center Ghaziabad | Slimming Center India


Monday, June 3, 2019

विटामिन डी से भरपूर 6 आहार, जो करेंगे विटामिन डी की कमी को दूर:

Dietician Sheela Seharawat at Diet Clinic Health Care Pvt Ltd 

प्रोटीन से भरपूर, योगर्ट में भी विटामिन डी के साथ फोर्टिफ़ाइड होते हैं हालांकि, सुनिश्चित करें कि दही खरीदने से पहले आप लेबल पढ़ लें, क्योंकि दही के इन फोर्टीफाइड संस्करणों में से अधिकांश स्वाद वाले होते हैं, जिसका अर्थ है कि उनकी चीनी सामग्री बहुत अधिक है. इसलिए, स्टोर किए गए दही के पैकेट से बचें और घर पर बना दही लें.
2. विटामिन डी की कमी को दूर करेगा संतरा: 
संतरे के रस में विटामिन डी और विटामिन सी की अच्छी मात्रा होती है. यह सबसे अच्छे फलों के रसों में से एक है, जो विभिन्न स्वास्थ्य लाभकारी गुणों से भरपूर है. हमेशा ताजे संतरे के रस का विकल्प चुनें और स्टोर से खरीदे गए संतरे के रस को खरीदने से बचें.
3. दलिया:
ज्यादातर साबुत अनाज की तरह, दलिया भी विटामिन डी का एक अच्छा स्रोत है. इसके अलावा, ओट्स जरूरी खनिजों और विटामिन और जटिल कार्ब्स से भरपूर होता है.
4. विटामिन डी से भरपूर होते हैं मशरूम:
क्योंकि मशरूम सूरज की रोशनी में उगते हैं, इसलिए वे विटामिन डी से भरपूर होते हैं. इसके अलावा, मशरूम बी- विटामिन बी 1, बी 2, बी 5 से समृद्ध होते हैं और तांबा जैसे खनिज भी इनमें मौजूद होते हैं. लेकिन इस बात का भी ध्यान रखना जरूरी है कि सभी मशरूम में विटामिन डी की समान मात्रा नहीं होती है. मशरूम कई तरह के होते हैं. प्राकृतिक धूप में सुखाए जाने वाले मशरूम को चुनना हमेशा बेहतर होता है.
5. अंडे की जर्दी:
अंडे की जर्दी अभी तक विटामिन डी का एक और समृद्ध स्रोत है. अंडे की जर्दी अतिरिक्त कैलोरी और वसा होती है. लेकिन इसमें प्रोटीन और अच्छे कार्ब्स सहित सभी आवश्यक पोषक तत्व होते हैं.
अगर आप विटामिन डी की कमी से जूझ रहे हैं तो आपको अपने आहार में फैटी फिश को शामिल करना चाहिए. ये विटामिन डी से भरपूर होती हैं. इसके साथ ही साथ इसमें कैल्शियम, प्रोटीन और फासफोरस होते हैं. जो आपकी सेहत को और भी कई फायदे देते हैं.
Dietician Sheela Seharawat Weight Loss Clinic

Saturday, June 1, 2019

जानिए कमाल के यह पांच स्नेक्स जिन्हें खाकर आप रह सकते हैं फिट


दोस्तों आज हम आपको कुछ ऐसे स्नेक्स के बारे में बताने जा रहे हैं जिनका सेवन करने से आपके शरीर का वजन कम हो जाएगा। इतना ही नहीं यह स्नेक्स खाने में काफी स्वादिष्ट होते हैं। इसके साथ साथ ये पौष्टिक भी है। आइए बताते हैं आपको उस स्नेक्स बारे में।

Dietician Sheela Seharawat at Diet Clinic Health Care Pvt Ltd 


अंकुरित दाल (स्प्राउट्स)
अंकुरित दाल में कई तरह के पोषक तत्व पाए जाते हैं। दूसरे स्नेक्स की तुलना में अंकुरित दाल में कैलोरी काफी कम मात्रा में पाई जाती है। स्प्राउट्स मूंग दाल को पानी में पहले भिगोकर फिर बनाया जाता है। अंकुरित दाल खाने से ना केवल आप को ताकत मिलती है बल्कि आपके शरीर में एक्स्ट्रा चर्बी भी नहीं बढ़ती है । इस तरह से यह वजन कम करने में भी सहायक मन साबित होता है। दालों में मौजूद फाइबर हमारे शरीर के पाचन तंत्र को मजबूत बनाता है। उसके साथ साथ यह ब्लड प्रेशर को कम करने में भी काफी लाभदायक साबित होता है । अंकुरित दाल खाने से हार्ट की समस्याओं से भी छुटकारा मिलता है ।

मखाना (फॉक्‍स नट्स)
मखाना का दूसरा नाम फॉक्स नट्स है। मखाना को एक स्नेक्स की तरह खाया जा सकता है। मखाना एक ऐसा स्नेक है जिस में कैलोरी की मात्रा नाम मात्र की होती है। इसलिए यदि आप अपना वजन कम करना चाहते हैं तो मखाने का सेवन सुबह नाश्ते में करें। मखाने को खाने से पहले आप रोस्ट भी कर सकते हैं। मखाने में सोडियम, केलोस्ट्रोल काफी कम मात्रा में पाए जाते हैं । मखाना ना केवल आपका वजन कम करता है बल्कि आपके स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद भी होता है। मखाना हार्ट के पेशेंट के लिए काफी अच्छा माना जाता है।

सूखी मटर है फायदेमंद
सुखी मटर को आप स्नैक्स की तरह खा सकते हैं। मटर में फाइबर और प्रोटीन प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। इसमें फैट और कैलरी भी काफी कम मात्रा में होता है जो हमारे वजन कम करने के लिए काफी लाभकारी सिद्ध होता है। यदि आप नाश्ते में इसका सेवन करते हैं तो यह हमारे स्वास्थ्य के लिए काफी लाभकारी सिद्ध होता है। इसमें एनर्जी प्रचुर मात्रा में पाई जाती है। इसके अलावा यह कैस्ट्रॉल और हाई ब्लड प्रेशर को कम करने में सहायक है।

बेसन का चीला व मूंग दाल इडली
मूंग की दाल में प्रोटीन प्रचुर मात्रा में पाया जाता है । आप चाहे तो नाश्ते में मूंग की दाल की बनी इडली का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके अलावा यदि आपको इडली नहीं पसंद है तो मूंग की दाल बेसन का चिल्ला भी बना सकते हैं। मूंग दाल में प्रोटीन प्रचुर मात्रा में पाया जाता है और इस में बसा काफी कम मात्रा में होता है। इसे पौष्टिक बनाने के लिए इसमें आप पनीर और हरी सब्जियां भी मिला सकते हैं।

दही
दही में फाइबर और प्रोटीन भरपूर मात्रा में होता है इसलिए दही वजन कम करने के लिए सबसे सही भोजन है। दही खाने से ना केवल आपका वजन कम होता है बल्कि पेट संबंधी बीमारियों से भी छुटकारा मिलता है।



अधिक पानी का सेवन आपको बेहतर स्वास्थ्य लाभ प्रदान करता है। लेकिन आप अक्सर इसे आवश्यक मात्रा में पीना भूल जाते हैं। तो, यहां नई चाल है। आपको बस अपने सभी पेय पदार्थों को पानी से बदलना होगा। आपको आश्चर्यजनक परिणाम म

आप दिन भर अलग-अलग पेय में लिप्त रहते हैं, इनमें सोडा से लेकर कैफीन तक की सूची लंबी है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि कौन सा आपकी सेहत के लिए अच्छा है और कौन सा नहीं? शायद आपका जवाब नहीं होगा। लेकिन पानी सबसे अच्छा पेय है जिसका आप कभी भी सेवन कर सकते हैं। यदि आप अपने सभी पेय को दिन भर में पानी से बदलते हैं, तो यह आपको आश्चर्यजनक परिणाम दे सकता है।


वजन कम करने का सबसे अच्छा और आसान तरीका है कि आप आपने सभी ड्रिंक्‍स को पानी के साथ बदल दें। जब आप अधिक पानी का सेवन करते हैं तो आपका वजन तेजी से कम होता है। एक अध्ययन के अनुसार, आप सभी पेय को नौ दिनों के लिए पानी से बदल देते हैं तो आप दिन में 8 किमी दौड़ते के बाराबर कैलोरी बर्न करते हैं। तो आप बस अधिक पानी पीते हैं।

मेटाबॉलिज्‍म में बृद्धि

पानी के साथ अपने सभी पेय को बदलने से आपके चयापचय में वृद्धि होगी और आपकी ऊर्जा का स्तर बढ़ेगा। इसलिए दिन भर खूब पानी पिएं और पूरे दिन ऊर्जावान बने रहें। यह दिन-प्रतिदिन के कार्यों को करने के लिए आपकी दक्षता में भी सुधार करेगा।

बेहतर मस्तिष्क

आपको पता होगा कि मानव मस्तिष्क का 75% से 85% तक पानी है। अधिक पानी पीने से आपको बेहतर ध्यान केंद्रित करने में मदद मिलेगी। आप सभी दैनिक कार्यों को जल्दी और कुशलता से करेंगे। इसलिए, कैफीन छोड़ें और पानी पीएं।

क्रैविंग से दूर रखे

जब आप पानी पीते हैं तो आप कम खाते हैं। यदि आपमें कैलोरी लेने की तीव्र इच्‍छा होती है, तो बस एक गिलास पानी पिएं। यह आपके वजन को प्रबंधित करने और आपको स्वस्थ रखने में आपकी मदद करेगा। कभी-कभी प्यास cravings को ट्रिगर करती है। हर समय अपने साथ पानी रखें और अनावश्यक कैलोरी को अलविदा कहें।

विषाक्‍त पदार्थों को बाहर करे

अधिक पानी पीने से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकलता है जिससे त्वचा का स्वास्थ्य बेहतर होता है और उम्र का बढ़ना कम हो जाता है। भरपूर पानी का सेवन आपको एक युवा त्वचा को बनाए रखने में मदद करेगा। आप एक युवा और चमकती त्वचा देखेंगे।

पानी पीएं और डॉक्‍टर के पास जानें से बचें

भरपूर पानी पीने से कई बीमारियों और उच्च रक्तचाप, हृदय रोगों, मूत्राशय की स्थिति और अपच जैसी गंभीर स्वास्थ्य स्थितियों का खतरा कम हो जाता है। इसलिए अधिक पानी पीकर डॉक्टर के पास जाने के अपने अवसरों को कम करें।



दोस्तों आजकल मोटापा एक आम समस्या बनती जा रही है। हर कोई मोटापे से परेशान हैं। जब भी हम मोटापा कम करने की कोशिश करते हैं तो हम ज्यादातर ध्यान इस बात पर देते हैं कि अगर हमारी कैलोरी कम हो जाएं, तो हमारा वजन भी कम हो जाएगा। जब भी हम मोटापा कम करने के लिए इंटरनेट पर कुछ भी सर्च करते हैं तो सबसे पहले हमें यही बताया जाता है कि यदि हम कम कैलोरी का सेवन करेंगे तो हमारा वजन भी कम हो जाएगा और मोटापा भी खत्म हो जाएगा । किंतु आपको यह जानकर हैरानी होगी कि ऐसा जरूरी नहीं है की कैलोरी कम करने से वजन कम हो जाए। क्योंकि हर किसी की पाचन शक्ति अलग - अलग होती है। हर किसी का शरीर एक दूसरे से अलग होता है किसी का शरीर को ज्यादा लेता है और किसी का कम।

हाल ही में हुए एक शोध से पता चला है की हम जितनी कैलोरी गिन कर खाते हैं और सोचते हैं कि हमारे शरीर को पर्याप्त कैलोरी मिल चुकी है तो यह सोचना गलत है। क्योंकि हम जितनी कैलोरी खाते हैं हमारा शरीर उतनी कैलोरी सही मात्रा में नहीं ले पाता। जैसे की हम बादाम खाते हैं कहते हैं बदाम में 170 कैलोरी होती है। लेकिन जब आप बादाम का सेवन करते हैं तो आपका शरीर केवल 129 कैलोरी है बादाम से ले पाता है। ऐसा कई बार होता है कि हम सोच लेते हैं कि हमारे शरीर को पर्याप्त कैलोरी मिल चुकी है और आगे भोजन नहीं करते किंतु ऐसा करके हम अपने स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं।

अगर हम के डिब्बा बंद भोजन करते हैं तो जितनी कैलोरी डिब्बे पर लिखी होती है हमारे शरीर को उससे कहीं ज्यादा कैलरी मिल जाती है। इसीलिए इस बात पर हमेशा से सवाल उठाया जाता रहा है कि बच्चों को केमिकल फूड पैकिंग से दूर रखना चाहिए। इसका सेवन करने से मोटापा बढ़ता है। इसीलिए विशेषज्ञों का कहना है कि यदि आप वजन कम करना चाहते हैं तो डिब्बाबंद भोजन से परहेज करें। लगातार इस तरह का भोजन करने से बच्चों में मोटापा तो बढ़ता ही है। इसके साथ-साथ आगे जाकर बच्चों को मधुमेह की बीमारी होने की आशंका भी काफी बढ़ जाती है।

यदि आप सच में वजन कम करना चाहते हैं तो आपको ध्यान कैलोरी कम करने पर नहीं देना चाहिए बल्कि आपको इस बात पर ध्यान देना चाहिए कि आप ऐसे भोजन का सेवन करें जो आसानी से आपका शरीर पचा सके। ऐसा करने से आपका वजन भी कम होगा और आप स्वस्थ भी रहेंगे। हल्का भोजन करने से आपका पेट भी भर जाएगा और आपके शरीर को ज्यादा कैलोरी भी नहीं मिलेगी।



आजकल की दुनिया में हर इंसान इतना बिजी है कि अपने स्वास्थ्य का ध्यान नहीं रख पाता है। ऐसे में उन लोगों के लिए मुश्किलें तब बढ़ जाती है जब वह ऑफिस में बैठे-बैठे काम करते हैं और उनके आसपास शरीर में जमा चर्बी बढ़ने लगते हैं। उसे कम करने के लिए भी उनके पास समय नहीं रहता है। आज हम आपको कुछ ऐसे टिप्स बताएंगे कि आप बहुत आसानी से अपने पेट और कमर की चर्बी को कम कर सकते हैं। यानी कि आप अपनी टमी को फ्लैट कर सकते हैं उसके लिए आपको ज्यादा मेहनत भी नहीं करनी पड़ेगी और बहुत आसानी से आपके शरीर का वजन कम हो जाएगा।


पैदल चलें
सबसे आसान उपाय तो यह है कि आप वजन कम करना चाहते हैं तो जितना ज्यादा हो सके पैदल चले। सुबह शाम दोनो टाइम कम से कम 45 मिनट तक पैदल चले और वह भी धीरे-धीरे नहीं बल्कि तेज रफ्तार से। इससे आपकी एब्डोमेन मांसपेशियों का वजन कम होने लगेगा और आपका वजन भी घटने लगेगा। इसे आप को दो लाभ होंगे एक तो बाहर की फ्रेश हवा आपको मिलेगी दूसरा आप नए नए लोगों से मिल भी पाएंगे और आपका मूड भी बदलेगा।

देखिए ज्यादातर चर्बी कमर या पेट में ज्यादा जमा होती है। ऐसे में अगर आप उसे कम करना चाहते हैं तो आप कोई ना कोई खेल जरूर खेला करें जैसे कि तैराकी या बॉक्सिंग। फिर जो भी खेल आपको पसंद है उसे जॉइन कर लें और उसमें शामिल हो जाए। जितना ज्यादा आप स्पोर्ट्स में भाग लेंगे उतनी जल्दी वजन को बाय-बाय कहेंगे और दूसरा आपका मनोरंजन भी होगा।


हंसते-हंसते वजन घटाइये
अब जो तरीका हम आपको बताने जा रहे हैं उसे सुनने के बाद आपको ऐसा लगेगा कि हम आपके साथ मजाक कर रहे हैं। पर यह तरीका सबसे अच्छा तरीका है आप इसे योग का नया रूप भी समझ सकते हैं। लाफिंग योगा को अपनाए। यानी कि जितना ज्यादा से ज्यादा आप हंसेंगे उतना वजन कम होगा। यह बात अजीब भी है यह सच भी है क्योंकि जब आप हंसते हैं तो आपकी मांसपेशियों को वयायाम मिलता है और धीरे-धीरे वजन कम होने लगता है।



बैठे-बैठे करें व्यायाम
अब जो हम आपको टिप्स बता रहे हैं वह आलसी लोगों के लिए सबसे बेहतर है। यानी की बैठे-बैठे भी व्यायाम कर सकते हैं उसके लिए जब भी आप बैठ कर कहीं पर काम कर रहे हैं तो अपनी कमर को हमेशा सीधा रखें। आगे झुक कर बैठकर काम ना करें और जब आप सीधा बैठे-बैठे थक जाए तो अपनी कमर को आगे पीछे हिलाएँ। इससे आपके एब्डोमिनल के ऊपर खींचाव पड़ेगा और आपके पेट की मांसपेशियां भी खींचने लगी जिससे आपका वजन कम होने लगेगा।

नमक का सेवन कम करें
जिन लोगों को जंक फूड या फिर बीयर बहुत पसंद है तो वह अपने आहार में से नमक का सेवन कम कर दो। यानी कि जितना ज्यादा हो सके सोडियम की मात्रा को घटाएं। इसे आपके पेट को भी आराम मिलेगा और वह फूला हुआ नजर नहीं आएगा और चर्बी घटाने का यह सबसे स्मार्ट तरीका भी होगा।






Tuesday, May 28, 2019

How nutrition for men and women different?


The constitution of the human body is not the same for man and woman. Therefore, the diet to follow will also vary depending on the genre. One of the reasons for this difference in weight loss is that men have more muscle mass than women. As a result, they have basic metabolism much higher than that of women affirms Dietician Sheela Seharawat of Diet Clinic.

Dietician Sheela Seharawat at Diet Clinic Health Care Pvt Ltd 


As a result, a man needs a lot more calories in a day than a woman to stay healthy. If they followed the same diet to lose weight, the man would quickly lose more weight than the woman. To this could also be added a significant loss of muscle mass, if the weight loss diet is not suitable for his body.

To lose weight, in both cases, it would, of course, reduce the daily nutritional ration. A man will have to lower his consumption to 1,800 calories against 1,500 calories for a woman. Avoid fast foods and other high caloric foods. Physical activities should not be omitted, especially for mister if he wants to have an athlete's body. And of course, you have to drink a lot and minimize sugar and salt.

The high protein diet is usually less in carbohydrate calories and suitable for both. Indeed, the quest for a healthier and more appropriate food does not know the border of gender. Yes, men and women all want to lose weight, gain weight, eat more protein, eat healthier or other.

Although diets are generally prescribed for men and women, it is essential to understand that we are different. The templates of men definitely do not look like those of women, and apparently, it would be necessary to make the difference so that problems do not occur. Weight loss diet for female has a different composition.

What must be understood is that the constitution of a man and that of a woman differ and therefore the intake of proteins, for example, will not be the same amount. The amount of food one will take will not be the same as another will need.